नेपाल को भी लाल आंखे नहीं दिखा पा रहे PM मोदी
बताइये कैसे 56 इंच है ये ?

नेपाल ने जब से सविधान संशोधन कर भारतीय क्षेत्र को अपने कब्जे में दिखा लिया है उसका दुस्साहस बढ़ता ही जा रहा है, खबर आई है कि बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले की लगभग 7100 एकड़ जमीन पर नेपाल ने कब्जा जमा लिया है।

ये सिलसिला अब भी तेजी से जारी है। बिहार के वाल्मीकिनगर में सुस्ता क्षेत्र पर नेपाल ने पूरी तरह कब्जा कर लिया है। भारतीयों के यहां जाने पर भी रोक लगा दी है

नेपाल की ओर से लगातार अतिक्रमण के बाद भी भारत की मोदी सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए हैं। बिहार से जुड़ी नेपाल की सीमा पर नेपाल की पुलिस लगातार कई बार भारतीय नागरिकों पर गोली बरसा कर उन्हें घायल कर चुकी है।

नेपाल की तरफ से बहने वाली नदियों के तटबंध तोड़कर बिहार के सीमावर्ती जिलों में बाढ़ के हालात बनाए जा रहे।नेपाली जमीन पर नदियों की धारा बदलकर प्राकृतिक सीमा बना दी गई है और कब्जा कर लिया गया है।

लेकिन 56 इंच को जरा सी भी चिंता नही है अब नेपाल को भी 56 इंच अपनी लाल लाल आंखे नही दिखा पा रहे है बाकियों की बात तो छोड़ ही दीजिए।

क्या है मामला

नेपाल ने बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले की लगभग 7100 एकड़ जमीन पर कब्जा जमा लिया है। बताया जा रहा है कि बाल्मीकि नगर में सुस्ता, वाल्मिकीनगर टाइगर रिजर्व के जंगल और गोवर्धना में शिवालिक रेंज की पहाड़ियां सहित ऐसे कई इलाके हैं। जहां पर नेपाल अपना अवैध कब्जा बढ़ा रहा है।

इस इलाके के डीएम डॉ निलेश रामचंद्र देवर ने बताया है कि यह इंटरनेशनल मामला है जबकि डीएफओ गौरव झा का कहना है कि यह जमीन के अतिक्रमण का मामला है। स्थिति का फायदा उठाते हुए लोग दोहरी नागरिकता का लाभ ले रहे हैं और इन इलाकों में जंगल से करोड़ों रुपए के पेड़ भी काट लिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here