बांग्लादेश : हाल ही में यौन हमलों की कई घटनाएं सामने आने पर सड़कों और सोशल मीडिया पर जनाक्रोश भड़कने के बाद मंत्रिमंडल ने बलात्कार के मामलों में अधिकतम सजा उम्र कैद से बढ़ाकर मृत्युदंड करने को सोमवार को मंजूरी दी. बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) ने पिछले दिनों हुई एक बलात्कार की घटना पर देश में कोहराम मचने के बाद यह फैसला लेने जा रही है कि रेप के मामलों में उम्र की सजा बढ़ाकर फांसी दी जा सकती है.

इसे भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ याचिकाओं पर SC का केंद्र को नोटिस, कहा- 4 हफ्तों के भीतर दें जवाब

सरकार के प्रवक्ता खांडाकर अनवरूल इस्लाम ने कहा कि राष्ट्रपति अब्दुल हामिद ने एक अध्यादेश जारी कर महिला और बच्चों के उत्पीड़न रोकने (Women and Children Repression Prevention Act) संबंधी नियमों में बदलाव करने जा रहे हैं. राष्ट्रपति को इस बारे अध्यादेश लाने की जरूरत इसलिए पड़ रही क्योंकि इस समय संसद सत्र नहीं चल रहा है।

इसे भी पढ़ें : उत्तराखंड : 9वीं से 12वीं तक खुल सकते है स्कूल, 14 अक्टूबर को होगी कैबिनेट की बैठक

बांग्लादेश की सरकार ने यह भी कहा है कि कैबिनेट ने रेप के मामलों में स्पीड ट्रायल के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है. फिलहाल बांग्लादेश में रेप के सिर्फ वैसे मामलों में फांसी की सजा हो सकती है जिसमें पीड़िता की मौत हो गई हो. बांग्लादेश के स्थानीय मानवाधिकार संगठनों का कहना है कि देश में रेप के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है।

इसे भी पढ़ें : हिन्दू महासभा के नेता ने खुद को गोली से उड़ाया, पत्नी ने भी जहर खाकर दे दी जान

ऐन ओ सलिश नाम की संस्था का कहना है कि जनवरी से अगस्त के बीच 889 रेप के मामले सामने आए हैं और इनमें कई गैंगरेप की घटनाएं भी शामिल हैं. सस्था का कहना है कि करीब 41 पीड़िताओं की मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here