पीएमसी (PMC) बैंक के बाद प्राइवेट सेक्टर का आर्थिक संकट से जूझ रहे लक्ष्मी विलास बैंक पर केंद्र सरकार ने 1 महीने के लिए मोरेटोरियम लगा दिया है। लक्ष्मी विलास बैंक पर कई पाबंदियां 16 दिसंबर तक लगाई गई है। इसके तहत 16 दिसंबर तक खाताधारक 25 हजार से ज्यादा निकासी नहीं कर सकेंगे।

बता दें कि इससे पहले भी आर्थिक संकट से जूझ रहे पीएमसी और यस बैंक पर भी इसी प्रकार की पाबंदियां लगाई गई थी। सरकार ने बताया कि यह पाबंदी आरबीआई के सलाहकार लगाई है। आरबीआई अधिनियम की धारा 45 के तहत वित्त मंत्रालय द्वारा जारी आदेश में साफ तौर पर कहा गया है, कि लक्ष्मी विलास बैंक पर 1 महीने का मोरेटोरियम लगा है।

Read Also : कोरोना संक्रमित मरीज का शव लाने कूड़ागाड़ी भेजा

मोरेटोरियम लागू रहने तक बैंक खाताधारक को 25 हजार से ज्यादा पेमेंट नहीं कर सकता है। जब तक कि आरबीआई बैंक को कोई लिखित आदेश नहीं देता। हालांकि इस दौरान खाताधारक इलाज, उच्च शिक्षा की फीस, और शादी जैसे कार्यों के लिए 25 हजार से ज्यादा निकासी कर सकता है।

Read Also : RJD नेता जगदानंद सिंह बोले- BJP ने जनादेश का बलात्कार किया, उसी के पैदाइश है नीतीश कुमार

हालांकि उससे पहले खाता धारक को आरबीआई से अनुमति लेनी होगी। बता दें कि दशकों पुराने लक्ष्मी विलास बैंक कुछ सालों से आर्थिक संकट से गुजर रहा था। जब सन 2019 रिजर्व बैंक ने इंडिया बुल्स हाउसिंग फाइनेंस कंपनी में विलय के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here