बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद जिस प्रकार जमीनी स्तर से लेकर सोशल मीडिया तक हंगामा मचा हुआ है। तो वही चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी कई सवाल खड़े होने लगे हैं, और इससे पहले भी होते रहे हैं। उससे पहले मतदान गिनती के दौरान भी कई विधानसभा क्षेत्र से ऐसी खबरें आई, जहां के उम्मीदवारों ने चुनाव आयोग पर वोटों की गिनती में धांधली करने का आरोप लगाया।

मतदान गिनती के दौरान जिस प्रकार पोस्टल बैलट वोटों की गिनती की समय महागठबंधन बहुमत के साथ बढ़त बनाए हुए था, तो वहीं ईवीएम खुलते ही एनडीए बहुमत के करीब जाने लगी और महागठबंधन लुढ़कते हुए नीचे आने लगा। जिसके बाद ईवीएम को लेकर फिर सवाल उठने लगे हैं।

Read Also : हिलसा विधानसभा सीट से महज 12 वोटों से हारे RJD नेता, EC पर लगाया धांधली का आरोप

बता दे कि ईवीएम और चुनाव आयोग की निष्पक्षता को लेकर पहले से ही सवाल खड़े होते रहे हैं ? और एक बार फिर बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद चुनाव आयोग और ईवीएम पर सवाल खड़े होने लगे हैं। तो वहीं फिर विपक्षी दलों के तमाम नेता एवीएम को लेकर कई सवाल खड़े करने लगे हैं।

दरअसल कांग्रेस नेता डॉ उदित राज ने अपने टि्वटर हैंडल पर ईवीएम पर सवाल उठाते हुए लिखा – रीया के मामले में whatsapp की सुरक्षा कितनी है, पता लगा होगा।दीपिका पादुकोण के पुराने Whatsap को निकाल लिया गया । कुछ निजी नही। इलेक्ट्रॉनिक की ही चीज़ EVM है, हैक करना कौन मुश्किल है ?

Read Also : जानिए बिहार विधानसभा की 10 ऐसी सीटें जहां हार-जीत का फासला बेहद कम वोटों का रहा

जिसके बाद कांग्रेस नेता रंजीत राज के ट्वीट को इंडिया टीवी के पत्रकार सुशांत सिन्हा ने ट्वीट करते हुए लिखा की – सर, आप सही बोल रहे हैं। मुझे तो शक है कि बुद्धि भी हैक की जा सकती है और दिमागी सॉफ्टवेयर करप्ट करके इंसान को कुतर्की बनाया जा सकता है।

फिर क्या था, इंडिया टीवी के पत्रकार सुशांत सिन्हा को कांग्रेस नेता उदित राज के ट्वीट पर पलटवार करना भारी पड़ गया। उदित राज ने इंडिया टीवी के पत्रकार सुशांत सिन्हा को आड़े हाथों लेते हुए लिखा – ये आपने सही कहा। दिमाग हैक करके अच्छे भले पत्रकार को दलाल बनाया जा सकता है। प्वायंट स्ट्रांग है आपका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here