रुद्रपुर : बीते दिनों कांग्रेस के प्रदेश सचिव नंदलाल पर हुए लाठीचार्ज से प्रदेश की राजनीति गरमा गई है, जिस प्रकार कांग्रेस नंदलाल पर हुए लाठीचार्ज को लेकर सरकार के खिलाफ अपना विरोध व्यक्त कर रही है, उसे देखकर लगता है कि आने वाले दिनों में बीजेपी को इसको खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

वहीं लाठीचार्ज करने वाले पुलिसकर्मियों पर अब तक कोई ठोस कार्रवाई न होने के कारण रविवार को पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष संदीप चीमा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दरोगा पर कार्रवाई की मांग को लेकर गांधी मैदान में धरना देकर आक्रोश जताया। धरना दे रहे कांग्रेस नेताओं का आरोप है, कि सरकार प्रशासन के बल पर विपक्ष के आवाज को दबाना चाह रही है।

वही जल्द ही इस मामले में कार्रवाई नहीं होने पर कांग्रेस के नेताओं ने सड़कों पर उतरकर आंदोलन की चेतावनी दी। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि प्रदेश सचिव नंदलाल में शांतिपूर्ण तरीके से काली गुब्बारे छोड़कर सीएम का विरोध जताया था। लेकिन सरकार को खुश करने के लिए वहां तैनात एक दरोगा प्रदेश सचिव पर लाठिया बरसाने लगा।

कांग्रेसी नेताओं का आरोप है कि पुलिस को उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए था, आखिर दरोगा को लाठियां बरसाने का अधिकार किसने दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में डीजीपी, एसपी सहित मानवाधिकार से भी इसकी शिकायत की, लेकिन अब तक दारोगा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

इस दौरान पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष संदीप चीमा, कांग्रेस प्रदेश सचिव सीपी शर्मा, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष किशोर कुमार, कांग्रेस प्रदेश सचिव नंदलाल, दिनेश पंत, चंद्रशेखर, जगदीश कर्मकार, प्रांजल गाबा, विजय यादव, आशीष यादव, राघव सिंह, प्रकाश अधिकारी, शैलेंद्र प्रताप सिंह, मंगल सिंह आदि मौजूद रहे।

बता दें कि बीते शनिवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत रुद्रपुर दौरे पर आए थे। वहीं कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के दौरे का विरोध किया था। इसी दौरान कांग्रेस के प्रदेश सचिव नंदलाल ने काले गुब्बारे छोड़कर त्रिवेंद्र रावत का विरोध जताया, परंतु मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन पर लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। जिस कारण कांग्रेसी नेता को कई जगह चोटें भी आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here