जब से केंद्र सरकार नया कृषि अध्यादेश लेकर आई है, तब से ही केंद्र सरकार पर देश भर के किसानों का गुस्सा फुट रहा है। जिसको लेकर देशभर किसानों ने जगह-जगह धरना प्रदर्शन भी किया। लेकिन केंद्र सरकार अपने फैसले पर अडिग रही तो वहीं किसान भी किसी अध्यादेश को वापस लेने की मांग को लेकर अड़े हुए हैं।

वहीं अब किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में काली दिवाली मनाने का भी ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने पंजाब के किसानों को दिल्ली में बैठक के लिए बुलाया था। जिसके बाद किसान संगठनों ने इस बैठक में भी जाने से मना कर दिया। किसान संगठनों का कहना है कि केंद्र सरकार सिर्फ पंजाब के किसानों को बुलाकर देश के अन्य किसान संगठनों में फुट डलवाना चाहती है।

Read Also : इतिहास में पहली बार भारत “आर्थिक मंदी” की चपेट में, आरबीआई की सरकार को चेतावनी

किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि अगर भाजपा सांसद सनी देओल किसानों के शुभचिंतक है, तो वह सांसद पद से इस्तीफा दे दें। बता दें कि भाजपा सांसद सनी देओल ने पंजाब में रेलवे ट्रैक जाम करने को लेकर पंजाब सरकार को खाली कराने के लिए कहा था। पंधेर ने कहा कि रेलवे ट्रैक 21 अक्टूबर से ही खाली है।

Read Also : देहरादून : आईटीआई के निर्माण के नाम पर छह करोड़ का घोटाला

ऐसे में भाजपा सांसद सनी देओल को केंद्र की भाषा ना बोल कर, केंद्र सरकार से बातचीत कर पंजाब में मालगाड़िया चलवानी चाहिए। सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि 5 नवंबर को देशभर के किसानों ने आंदोलन किया था। ऐसे में केंद्र सरकार को बैठक में देशभर के किसान संगठनों को न्योता देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here