मशहूर कॉमेडियन कुणाल कामरा पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर अवमानना का का आरोप लगा है। बता दे कि आत्महत्या मामले में रिपब्लिक टीवी के पत्रकार और एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को जमानत दिए जाने पर कुणाल कामरा ने सुप्रीम कोर्ट को लेकर कुछ ट्वीट किए थे।

वही आज कुणाल कामरा ने ट्वीट कर कहा कि- मै अपने ट्वीट को वापस लेने या उसके लिए माफी माँगने का इरादा नहीं रखता, मेरा मानना ​​है कि वे अपनों के लिए बोलते हैं। उन्होंने ये भी लिखा, “कोई वकील नहीं, कोई माफी नहीं, कोई जुर्माना नहीं, समय की बर्बादी नहीं।

Read Also : बिहार चुनाव : पोस्टल बैलेट में महागठबंधन को मिले एनडीए से दोगुना ज्यादा वोट

बता दे कि बीते बुधवार को रिपब्लिक टीवी एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिली थी। जिसके बाद कॉमेडियन कुणाल कामरा ने ट्वीटर पर लिखा- जिस गति से सुप्रीम कोर्ट किसी राष्ट्रीय महत्व के मुद्दे को ऑपरेट करती है, उसको देखकर लगता है कि महात्मा गांधी के फोटो को हरीश साल्वे के फोटो से बदलने का वक्त आ गया है।

Read Also : किसान-मजदूर संगठन बोले- अगर सनी देओल किसानों के साथ है, तो सांसद पद से दे इस्तीफा

वही कुणाल कामरा ने दूसरे ट्वीट में लिखा- डिवाइ चंद्रचूड़ एक फ्लाइट अटेंडेंट है। जो प्रथम श्रेणी के यात्रियों को शैम्पेन ऑफर कर रहे हैं क्योंकि वह फास्ट ट्रैक्ड है। जबकि सामान्य लोगों को यह भी नहीं पता कि वह कभी फ्लाइट में चढ़ या बैठ भी सकेंगे। सर्व करने की तो बात ही नहीं है।

Read Also : “आखिरी चुनाव” वाले बयान से पलटें नीतीश कुमार बोले- मै हर अंतिम चुनाव के सभा में ऐसे बोलता हूं

कुणाल कमरा के ट्वीट को पुणे के वकील रिजवान सिद्दीकी ने इसे सुप्रीम कोर्ट का अवमानना बताते हुए कार्रवाई करने की मांग की थी। जिसके बाद ऑटो ने जर्नल केके वेणुगोपाल ने कुणाल कमरा के खिलाफ अवमानना का केस शुरू करने की मंजूरी दे दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here