असम: पांच राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनावों के बीच एक चौकाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल असम के पथरकंडी विधानसभा में बीजेपी उम्मीदवार की बोलेरो कार में ईवीएम मिली है। वहीं बीजेपी नेता की कार से ईवीएम मशीन मिलने के बाद से तमाम विपक्षी दलों ने इस मामले में बीजेपी ही नहीं बल्कि चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

वही शुरुआती जांच में पता चला है कि जिस बोलेरो कार से ईवीएम मिला है, वह पाथरकांडी विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की है। सबसे खास बात तो यह है कि जब कार में ईवीएम बरामद की गई तो उस समय चुनाव आयोग का ना कोई अधिकारी और ना ही कार के भीतर कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद था।

इस घटना की जानकारी होने पर चुनाव आयोग ने आनन-फानन में 4 मतदान अफसरों को निलंबित कर दिया। इसके साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर लिखने के भी आदेश दे दिए गए हैं। चुनाव आयोग ने कहा कि परिवहन प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के लिए पीठासीन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। पीओ और 3 अन्य अधिकारियों को निलंबित किया गया है।

हालांकि ईवीएम की सील बंद मिली लेकिन LAC 1 रतबाड़ी (SC) के इंदिरा एमवी स्कूल, संख्या 149 पर दोबारा मतदान कराने का फैसला किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी से भी इस मामले को लेकर आयोग में रिपोर्ट मांगी है। वही बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल ने EVM चोरी जैसी किसी भी बात से इंकार किया ह।

लेकिन चुनाव आयोग के सूत्र इस घटना के पीछे कुछ अलग ही कहानी बता रहे हैं, डीएम से चुनाव आयोग को मिली जानकारी के मुताबिक यह कहा गया है कि पोलिंग पार्टी की गाड़ी बीच रास्ते में खराब हो गई थी, जिसके बाद रास्ते से गुजर रही एक गाड़ी का सहारा लेना पड़ा वह गाड़ी भाजपा विधायक और मौजूदा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार की गाड़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here