पंतनगर: पंतनगर विश्वविद्यालय में वर्ष 2003 से पूर्व दैनिक वेतन भोगी के रूप में कार्यरत कर्मचारियों को विश्वविद्यालय ने ठेके में डाल दिया गया है। जिसके विरोध में पिछले तीन दिनों से लगभग 200 से भी अधिक कर्मचारी प्रशासन भवन पंतनगर में क्रमिक अनशन कर रहे हैं। परंतु विश्वविद्यालय ने अभी तक इसका निराकरण नहीं किया है।

वही आज चौथे दिन पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलक राज बेहड़ अनशन स्थल पर उपस्थित होकर कर्मचारियों के साथ क्रमिक अनशन पर बैठे। इस दौरान उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन व सरकार को आगाह किया कि नियमों को ताक पर रखकर इन दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को जिन्हें विश्वविद्यालय द्वारा ठेके पर डाला गया है। यह पूर्ण रूप से नियम विरुद्ध है। विश्वविद्यालय प्रशासन इन्हें वापस ले अन्यथा बड़े पैमाने पर आंदोलन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन से नियमित रूप से अपनी मांगों को लेकर क्रमिक अनशन कर रहे कर्मचारियों पर दमनात्मक कार्रवाई करते हुए नियमों के विरुद्ध मुकदमे दर्ज करना तथा तमाम तरह के अनावश्यक निषेधाज्ञा जारी कराना घोर निंदनीय है।

इस दौरान धरना स्थल पर इंटक जिलाध्यक्ष तथा ट्रेड यूनियन संयुक्त मोर्चा अध्यक्ष जनार्दन सिंह, महामंत्री ओ एन गुप्ता, संतोष कुमार, महेंद्र शर्मा, जगदीश, हाकीम, श्याम सुंदर मिश्रा, नागेंद्र, पतरस, राजपाल सिंह, इत्यादि लोग उपस्थित थे। वही आज क्रमिक अनशन पर नारायण सिंह दयाल सिंह बिष्ट, शिवकुमार आदि बैठे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here