नई दिल्ली: सरकार ने बचत योजनाओं के ब्याज दर में कटौती के ऐलान को वापस ले लिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार की सुबह एक ट्वीट कर यह जानकारी दी। बता दे कि यह करोड़ों लोगों के लिए काफी राहत की बात है।

इससे पहले बुधवार को सरकार ने एक अप्रैल 2021 से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज की दर को घटा दिया था। ब्याज दरों में कटौती का यह नोटिफिकेशन नए वित्त वर्ष की पहली तिमाही के लिए जारी किया गया था। वित्त मंत्री ने कहा कि अब सभी योजनाओं पर ब्याज दर वही रहेगी, जो पिछली मार्च तिमाही में थी।

पहले हुआ था ये ऐलान –

सरकार ने बुधवार को जारी नोटिफिकेशन में कहा था कि सामान्य बचत खातों में जमा राशि पर ब्याज दर को चार फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी सालाना कर दिया जाएगा। यह कटौती एक अप्रैल से शुरू 2021-22 की पहली तिमाही के लिए किए जाने का एलान किया गया था।

इसके साथ ही एक वर्ष से लेकर पांच वर्ष तक की छोटी बचत योजनाओं पर भी ब्याज दर में कटौती की गई थी। पांच वर्ष तक की रिकरिंग डिपॉजिट योजना पर ब्याज दर 5.8 फीसदी से घटाकर 5.3 फीसदी कर दी गई थी। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों (SCSS) की बचत योजनाओं पर ब्याज दर को 7.4 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी करने का ऐलान किया गया था।

इसी प्रकार से राष्ट्रीय बचत पत्र, किसान विकास पत्र (KVP) पर भी ब्याज दर घटाई गई थी। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) पर मिलने वाले ब्याज की दर को 7.1 फीसदी से घटाकर 6.4 फीसदी सालाना कर दिया गया था। एक साल तक की जमा पर ब्याज दर को 5.5 फीसदी से घटाकर 4.4 फीसदी तिमाही कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here